PAPI HARISHCHANDRA

SACH JO PAP HO JAYEY

229 Posts

944 comments

Reader Blogs are not moderated, Jagran is not responsible for the views, opinions and content posted by the readers.
blogid : 15051 postid : 737206

सेवानिब्रत होंगे "नरेंद्र मोदी" ,"मनमोहन" १७ मई को

Posted On: 30 Apr, 2014 हास्य व्यंग,Politics,Others में

  • SocialTwist Tell-a-Friend

जाग्रत प्रधानमंत्री मनमोहन जी और स्वप्निल प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी दोनों १७ मई को सेवानिब्रत हो जायेंगे | १० वर्षों का वास्त्विक जाग्रत प्रधानमंत्री पद को सुशोभित करते अपनी सेवाओं को अब त्यागते बुद्धा गार्डन को ध्यानावश्था मैं सुशोभित करेंगे | वहीँ सबसे कम समय तक प्रधानमंत्री का पद सुशोभित करने वाले अटल बिहारी बाजपेयी जी का रिकार्ड न तोड़ पाने का अफसोश लिए नरेंद्र मोदी जी भी अपनी स्वप्निल प्रधानमंत्री के पद को सेवानीब्रती करते बुद्धा गार्डन को शोभायमान करते नजर आएंगे | स्वप्निल प्रधानमंत्री पद को सुशोभित करने वाले सबसे कम समय का रिकार्ड भी नरेंद्र मोदी जी के नाम हो जायेगा | कांग्रेस की कूटनीतिक सफलता उन्हें वास्तविक जाग्रत प्रधानमंत्री पद को सुशोभित नहीं करने देगी | शेर सिद्ध हो चुके मोदी जी जंगल मैं निष्कंटक विचरेंगे | बुद्धा गार्डन मैं अवश्य दोनों प्रधानमंत्रीयों की मुलाकात होगी | गिले शिकवे वहीँ होंगे | तन ,मन और शरीर से सन्यास ले चुके मनमोहन जी अब और भी मौन अवस्था मैं ध्यान मग्न होंगे | वहीँ अभी नरेंद्र मोदी जी अपनी ,अपनी पार्टी की ,अपने संघटन की ,व देशवाशियों की जाग्रत प्रधानमंत्री की इच्छाओं ,लालसाओं की आत्म कुंठा से ग्रसित हो सन्यास की इच्छा लिए बुद्धा गार्डन को सुशोभित करते नजर आएंगे | सन्यास भी कैसी स्तिथी है , सब कुछ इच्छाओं को फलीभूत करके या अपूर्ण इच्चों से ,लालसाओं से ,अपमान के घूंठ पीकर ,आत्म ग्लानी से भी सन्यास की तरफ जाकर बुद्धा गार्डन को शोभायमान करते हैं | कांग्रेस ने अपनी पार्टी को ,प्रधान मंत्री को कमजोर सिद्ध होने देकर विपक्षियों को प्रधानमंत्रीयों की लालशा देकर बंदर बाँट से वोटों के टुकड़े टुकड़े कर दिए | स्वप्नों मैं जीते विपक्ष को फिर एक बार पिछले दो लोकसभा चुनाओं की तरह ही मुंहकी खानी पड़ेगी | मन मोहन एक नए नाम से फिर सोनिया जी की भक्ति करेंगे | क्यों कि हिन्दू धर्म के अनुसार भक्ति मैं ही शक्ति होती है | मन मोहन को तो तन ,मन ,और शरीर से सन्यास ही लेना होगा | यही उचित भी होगा | कांग्रेस भी अब नहीं चाहेगी | कमजोर प्रधान मंत्री का दाग अवश्य धोना चाहेगी | ……………………………………………………..…..वहीँ नरेंद्र मोदी जी को चाहने वाली जनता ने इतना ऊपर स्वर्ग की यात्रा करा दी है कि नीचे की तरफ आना उचित नहीं होगा | विपक्षियों ने इतना साम्प्रदायिक कहकहकर बदनाम कर दिया है कि अधिक सीट्स पाकर भी गठबंधन नहीं हो पायेगा | अगर जैसे तैसे हो भी जायेगा तो कितना टिकेगा | पार्टी के लिए उचित यही लगेगा की कुछ और समझौता करते काम चलाया जाये | जिससे अगला चुनाव तो सम्मानजनक हो सके | सशक्त गृह योग होने पर भी बृहश्पति गुरु गृह पर पापी शत्रु गृह शनि ,और शुक्र की पापी दृष्टी उन्हें प्रधान मंत्री नहीं बनने देंगी | पत्नी जशोदा वैन का शाप कहीं न कहीं असर दिखाता उनके पुनर्मिलन का कारक बनेगा | अब वैवाहिक जीवन पाहिले जीना पड़ेगा | फिर ही सन्यास की अनुमति मिल सकेगी | …………………………………….कौन सिद्ध होगा दैवी ,कौन आसुरी ……यह १७ मई की किरण सिद्ध कर देगी | गीता का ज्ञान भी क्या कहता है यह जनता पहिले से अनुभव नहीं कर पाती है | कौन कमजोर सिद्ध होकर ,कौन शेर सिद्ध होकर मान्य होगा |……………………………………………….ओम शांति शांति शांति



Tags:     

Rate this Article:

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (No Ratings Yet)
Loading ... Loading ...

2 प्रतिक्रिया

  • SocialTwist Tell-a-Friend

Post a Comment

CAPTCHA Image
*

Reset

नवीनतम प्रतिक्रियाएंLatest Comments

jlsingh के द्वारा
May 1, 2014

कौन सिद्ध होगा दैवी ,कौन आसुरी ……यह १७ मई की किरण सिद्ध कर देगी | गीता का ज्ञान भी क्या कहता है यह जनता पहिले से अनुभव नहीं कर पाती है | कौन कमजोर सिद्ध होकर ,कौन शेर सिद्ध होकर मान्य होगा | आदरणीय महोदय, सादर अभिवादन! क्या सचमुच ऐसा होनेवाला है? स्वनाम धन्य शेर बाबा तो बड़े ही आत्मविश्वास के साथ कमल हिला हिलाकर सम्बोन्धित कर रहे थे. पद्मपुष्पधारी पर एक दिन में दो ऍफ़ आई आर! ऐसा भी होता है क्या? प्रधान मंत्री के खिलाफ एफ आई आर …सोचा तो होता एक बार …वही भाई अबकी बार ….दम्भी सरकार … ………………………………………….ओम शांति शांति शांति

    PAPI HARISHCHANDRA के द्वारा
    May 1, 2014

    जवाहर जी अब सपना ही लग रहा है मोदी का प्रधानमंत्री बनना जब बनने से पहिले यह हाल है बनने के बाद क्यया भाजपा सह सकेगी ओम  शांति शांति कहते ऊॅट की  करवट का इंतजार है 


topic of the week



latest from jagran