PAPI HARISHCHANDRA

SACH JO PAP HO JAYEY

232 Posts

959 comments

Reader Blogs are not moderated, Jagran is not responsible for the views, opinions and content posted by the readers.
blogid : 15051 postid : 692735

यमला पगला दीवाना , लक्ष्य न छोड़ना ,contest

Posted On: 24 Jan, 2014 हास्य व्यंग,Contest,Politics में

  • SocialTwist Tell-a-Friend

जिस लक्ष्य पर अरविंदर केजरीवाल जी आप लक्षित हैं ,उसे कभी न छोड़ना | लक्ष्य तभी पाया जा सकता है जब नजर उसी पर हो ,अर्जुन की तरह …| लोग लाख पत्थर मारकर ,पगला कहकर ,दीवाना कहकर ,झूठा कहकर ,अराजक कह कर तन्द्रा भ्रमित करें , आप अपने कान बंद कर लैं |……………………………………………………………………….एक पालतू तोते की सी हालत हो गयी है आपकी ,जो पिंजरे से छूट कर जंगली तोतों मैं फँस गया है | यह जंगली क्या जानें सभ्य ,शिष्टाचारी ,भ्रष्टाचार विहीन ,हरिश्चन्द्री भाषा को | जितना इन्हें सिखाना चाहो, उतनी ही चोंचें मार मार कर घायल कर रहे हैं | मारने दो जितने ताने और चोंचे मार रहे हैं यह जंगली ….| इतना आत्मबल और दृढ़ निश्चय रखो कि इन जंगलियों को सभ्य भाषा सिखा कर इनका जीवन उद्धार कर सको | मार भी डालेंगे तो भी आपका एक प्रयास ही होगा ,जो इतिहास बनकर याद किया जाता रहेगा | …………………….आपका पहला प्रयास तो सफल ही रहा | आपने भयंकर शेर की दहाड़ को इन जंगलियों के जेहन से उतार ही दिया है | सारे जंगली तोते ,पक्षी ,जानवर ,आपका उपकार जीवन पर्यन्त नहीं भूल पाएंगे | कांग्रेस को तो मानो संजीवनी ही मिल गयी है | राहुल जी अब शेर से नहीं डरने वाले …| उनका आत्म विश्वास अब सातवें आसमान पर पहुँच रहा है | कांग्रेसी अब एक बार फिर सत्ता स्वप्न मैं खोते चैन की नींद सोने लगे हैं | शेर का भय अब जाता रहा है | मन मोहन सिंह जी चलो एक बार और सही पर विचारमग्न हो रहे हैं |………………….आप अपने लक्ष्य मैं लगे रहें ,हम सब भारतवाशी जंगली जीव ,भ्रष्टाचार को जड़ से नष्ट करने के लिए आप के साथ हैं | घबराएं नहीं इन जंगलियों को भ्रष्टाचार विहीन भाषा सिखाकर ही दम लैं | ……………………………………………………………………………..अरविंदर केजरीवाल जी मैं आपकी कुंडली के अनुसार सावधान करना चाहता हूँ कि आपका शनि अशुभ व्यय भाव मैं नीच का है | जो सफलता पर प्रश्न चिन्ह लगाता है | विशेष योग्यता होने के बावजूद भी जीवन मैं कठिनाईयों व संघर्षों से जूझना पड सकता है | हो सकता है साधारण जीवन को मजबूर कर दे |…………………………………………………………………………….शनि हमें यथार्थवादी बनाकर हमारी वास्तविक शक्तियों व योग्यताओं से अवगत कराता है ,तथा हमें एकांतप्रिय होकर निरंतर लक्ष्य की और अग्रसर करवाता है |……………………………………..अतः आप हठी न होकर किरण बेदी जी की सलाह मान नरेंद्र मोदी को आदर्श मान ‘आप ‘ को व देश को कूटनीतिक लक्ष्य दें | भूल जाएँ हरिश्चंद्र को यदि अपने को ‘आप ‘ को, देश को कुछ देना है | पुराने राजनीतिज्ञों का अनुसरण कर अपने को आप को बनाये रखें | मुलायम सिंह जी ,मायावती जी ,ममता बनर्जी ,जैसे समझदारों से सीख लैं |…………………….पूरा देश भ्रष्ट होते हुए भी एक मार्गदर्सन चाहता है एक लक्ष्य चाहता है | एक भयंकर जन जागरण हो रहा है | भ्रष्टाचार नष्ट करने का मुहिम चलता रहे , इसके लिए यह भी आवश्यक है कि’ आप’ भी अश्तित्व बनाये रहे | मीडिया मैं छाये रहो बस इतना ही बहुत है | …………………………………………………………………………..ॐ शांति शांति शांति

Rate this Article:

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (3 votes, average: 5.00 out of 5)
Loading ... Loading ...

6 प्रतिक्रिया

  • SocialTwist Tell-a-Friend

Post a Comment

CAPTCHA Image
*

Reset

नवीनतम प्रतिक्रियाएंLatest Comments

sanjay kumar garg के द्वारा
January 28, 2014

हरिश्चंद्र जी, सादर नमन! बढ़िया ब्लॉग लिखा है, परन्तु मुझे लगता है, “आप” पार्टी अपने लक्ष्य से भटक रही है!

    PAPI HARISHCHANDRA के द्वारा
    January 28, 2014

    संजय जी आभार , आप, का भटकन खत्म होगा  तो अपना  हरिश्र्चंद्री  अष्तित्व  खो देगी  । ओम शांति शांति शांति 

deepakbijnory के द्वारा
January 28, 2014

ाक EKDAM SAHI ME APKE VICHARON SE 100 % सहमत हूँ हरिश्चंद्र JI

    PAPI HARISHCHANDRA के द्वारा
    January 28, 2014

    दीपक जी आभार ,ओम शांति शांति शांति 

PAPI HARISHCHANDRA के द्वारा
January 25, 2014

जवाहर  जी आभार ,वास्तव मैं आपकी प्रतिक्रिया भी क्रिया से कम न होकर दो कदम आगे ही होती है हीरे को अपने पारखी पर गौरव महसूस होता है |भ्रष्टाचार एक सत्य है लेकिन उसको नष्ट करने का मुहिम दो कदम आगे ही होना चाहिए |चाहे जो भी हो ईस मशाल को आगे बढ़ाते रहना चाहिए |ॐ शांति शांति शांति

jlsingh के द्वारा
January 25, 2014

प्रणाम सर जी, एक चुटकुला आजकल बहुत चल रहा है – राजा हरिश्चंद्र ने सत्यवादी होने की शिक्षा अरविंद केजरीवाल से ही ली थी. अब साक्षात् हरिश्चंद्र महोदय भी सम्मुख आ गए हैं … नीरेंद्र नागर जी ने भी लिखा था – अरविंद केजरीवाल को हम कायरों का सलाम! .. बस दुआ सलाम! सलाम दिल्ली! सलाम बॉम्बे! सिस्टम को सुधारना इतना आसान नहीं है संघर्ष तो करना ही होगा अगर जानत में धैर्य हो पर वो धैर्य कहाँ से लावे. शेर की शरण में सुरक्षित रहा जा सकता है…सभी सियार, भालू, गीदड….. हरी ॐ शांति शांति शांति!


topic of the week



latest from jagran